LISTEN ONLINE   |  email: info@radiomadhuban.in  |  Call: +91-2974-228888            

पारिवारिक पृष्ठभूमि -छाया अनुसूचित जाती समुदाय से है, छाया का परिवार एक निम्न वर्गीय परिवार है पति मजूदरी या छोटा मोटा काम करते है छाया रेवदर में पढ़ी लिखी और धान में इनकी ससुराल है इनके एक पुत्र है |

राजनितिक सफ़र- छाया का कभी राजनीति से कोई लेना देना नही रहा लेकिन ससुराल में पहले इनके ससुर सरपंच रहे हुए है इस बार चुनावो में जब आठवी पास का नियम आया और धान पंचायत में अनुसूचित जाती महिला सिट आई तो छाया के ससुर ने छाया को चुनाव में खड़ा करने का फेसला किया | छाया नही चाहती थी लेकिन फिर भी उसे चुनाव लड़ना पड़ा, चुनाव में इनके सामने और उम्मीदवार भी थे लेकिन जीत छाया की हुई इसके पीछे इनके ससुर का राजनितिक केरियर था |

चुनाव जितने के बाद छाया को लगा उसे कही नही जाना पड़ेगा लेकिन जब संस्थान ने इन्हें महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम सरल संस्थान के लिए आमंत्रित किया और इनका बसे लाइन सर्वे फॉर्म भरा तो इन्हें लगा की इन्हें सरपंच होने के नाते कुछ जानकारिय तो होनी ही चाहिए तब इन्होने महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम सरल संस्थान में भाग लिया पहले ससुर तयार नही थे लेकिन संस्थान के समझाने पर इन्होने छाया को भेज दिया महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम सरल संस्थान में आने के बाद इन्हें लगा की इन्हें खुद ही अपना काम करना चाहिए लेकिन ससुर इन्हें रोकने लगे इसके बाद भी छाया पंचायत में जाने लगी व् बेठको में भाग लेने लगी ससुर द्वारा नाराजगी जाहिर करने पर कुछ समय के लिए छाया ससुराल से पीहर आ गई फिर संस्थान द्वारा बातचीत करके छाया के ससुर को समझाया गया तब उन्होंने छाया को काम करने की इजाजत दी | आज छाया स्वयं अपना कम करती है इस बिच छाया के एक बेटा हो गया है, वर्तमान  में छाया बच्चे व्  घर की जिम्मेदारी के साथ साथ पंचायत को भी भली भाती चला रही है |

धान पंचायत में छाया के कार्यकाल के काम

  • 13 cc रोड
  • 4 जॉब कार्ड
  • 7 विधवा पेंसन
  • 14 सामाजिक सुरक्षा पेंसन
  • 3 विशेष योग्य्जन पेंसन
  • 2 पालनहार
  • 6 पसु कातील
  • 7 हेद्पुम्प रिपेयर
  • 17 bpl परिवारों को गेस कनेक्सन
  • 13 बालिकाओ को शिक्षा से जोड़ना
  • 17 प्रधानमंत्री आवास
  • नरेगा के ठाट 3 खेतो में मेडबंदी
  • 4 रोड लाइट
  • 2 नाली निर्माण
  • १०० पोधारोपन

 #story10